स्पोर्ट्स डेस्क। दिग्गज भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुनी गई भारतीय टीम पर सवाल उठाया है। गांगुली ने कहा कि वनडे टीम में शुभमन गिल और अजिंक्य रहाणे को शामिल नहीं किया जाना समझ से परे है। गांगुली ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि टीम में कुछ ही ऐसे खिलाड़ी हैं, जो सभी फॉर्मेट खेल सकते हैं।

टीम इंडिया को तीन अगस्त से शुरू होने वाले विंडीज दौरे पर तीन वन-डे, तीन टी 20 और दो टेस्ट खेलने हैं। शुभमन गिल ने वेस्टइंडीज दौरे पर इंडिया ए के लिए सबसे अधिक रन बनाए हैं। उन्हें इस टीम में जगह नहीं मिली, जबकि रहाणे को सिर्फ टेस्ट सीरीज के लिए शामिल किया गया है।

केदार जाधव निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन वह टीम में हैं, जबकि वेस्टइंडीज में पांच लिस्ट ए मैचों में 218 रन बनाकर मैन आफ द सीरीज रहे गिल को टीम में जगह नहीं मिली। गांगुली ने ट्विटर पर चयनकर्ताओं की खिंचाई की और उन्होंने कहा कि उनका मुख्य काम सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध टीम का चयन करना होना चाहिए न कि लोगों को खुश करना।

गांगुली ने ट्वीट में लिखा कि समय आ गया है कि टीम इंडिया के चयनकर्ता लय और आत्मविश्वास के लिए सभी फॉर्मेट में समान खिलाड़ी को शामिल करें, कुछ ही खिलाड़ी सभी फॉर्मेट में खेलते हैं। दुनिया की बेहतरीन टीमों में लगातार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी हैं। यह सभी को खुश करने के लिए नहीं है, लेकिन देश के लिए सबसे अच्छे खिलाडिय़ों को चुनना है। शुभमन गिल और रहाणे को वनडे टीम में न देखकर हैरानी हुई।

रहाणे भारतीय टेस्ट टीम के उप-कप्तान हैं, लेकिन वह सीमित ओवरों में वह जगह बनाने में काफी समय से नाकाम हो रहे हैं। वहीं शुभमन गिल वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया में जगह नहीं बनाने से निराश हैं। गिल ने 54.50 की औसत और 28.19 की औसत से सबसे ज्यादा 218 रन बनाए हैं। चार मैच में 3 अर्द्धशतक जडऩे वाले गिल को मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया।