कोरबा। करतला विकासखंड के ग्राम पंचायत साजापानी का आश्रित ग्राम भंवरखोल है। ग्राम पंचायत से इसकी दूरी 15 किलोमीटर है। राशन दुकान साजापानी में होने के कारण ग्रामीणों को लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। भंवरखोल के निकट सीधापाठ को मिलाकर एक ग्राम पंचायत बना दिया जाए तो दोनों ही ग्राम पंचायतों को सुविधा मिलेगी।
इस आशय की मांग लेकर सीधापाठ और भंवरखोल के ग्रामीण कलेक्टोरेट पहुंचे थे। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम भंवरखोल साजापानी ग्राम पंचायत में आता हैए जो अपने पंचायत से 15 किलोमीटर दूर है। इस तरह ग्राम सीधापाठ ग्राम पंचायत करईनारा का आश्रित ग्राम हैए जिसकी दूरी 8 किलोमीटर है। दोनों ही आश्रित ग्राम के रहवासियों को प्रत्येक माह लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। सीधापाठ और भंवरखोल की दूरी एक किलोमीटर है। गांव निकट होने के कारण ग्रामीणों का कहना है कि संयुक्त रूप से दोनों गांव को मिलाकर नया ग्राम पंचायत बनाया जाए ताकि ग्रामीणों के लिए गांव में राशन दुकान की सुविधा मिल सके। मांग लेकर पहुंचने वाले ग्रामीणों में प्रमिला कंवर, सुनीता यादव, छतबाई, कांता कंवर, दूजबाई, जानकी, मोहनबाई, दिलीप कंवर शामिल रहे।