रायपुर। छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेल गतिविधियों के आयोजन और खेल गतिविधियों के समन्वय के लिए खेल विकास प्राधिकरण का गठन किया जायेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां मंत्रालय में आयोजित खेल विभाग की समीक्षा बैठक में खेल विकास प्राधिकरण के गठन के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं। खेल विकास प्राधिकरण के माध्यम से प्रदेश में खेलों के विकास के लिए नीतिगत निर्णय लिए जाएंगे ।

मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि प्रदेश में खेल गतिविधियां बढ़ाने के प्रयास किए जाने चाहिए , जिससे प्रदेश में निर्मित खेल अधोसंरचना का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित हो सके। बैठक में खेल मंत्री उमेश पटेल, मुख्य सचिव सुनील कुजुर, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ,खेल विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी और खेल संचालक श्वेता सिन्हा भी उपस्थित थीं।

प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर खेल अकादमी प्रारंभ करने से संबंधित विषयों पर बैठक में विचार-विमर्श किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने के लिए तैयार करने का प्रयास किया जाना चाहिए। उन्होंने राज्य में स्पोर्ट्स स्कूल प्रारंभ करने, ग्राम पंचायत स्तर पर युवाओं को खेल और सांस्कृतिक गतिविधियों से जोड़ने तथा खेल अधोसंरचना के उपयोग के लिए योजना तैयार करने के निर्देश दिए।