कोरबा। देवउठनी एकादशी का पर्व अंचल में कल धूमधाम से मनाया जाएगा। इस अवसर पर गन्ने की मंडप बनाकर घर-घर में भगवान शालिग्राम एवं तुलसी माता का विवाह कराया जाएगा। इसके लिए बाजार में गन्ने की खेप बड़ी संख्या में पहुंच चुकी है। जिसकी बिक्री कल दिन भर चलेगी। देवउठनी एकादशी मनाने के बाद विवाह योग्य युवक-युवतियों के विवाह की शहनाई, बैंड-बाजे बजने लगेंगे। छत्तीसगढ़ में देवउठनी को जेठौवनी के नाम से जाना जाता है।