कोरबा। कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) एवं उसकी सभी अनुषंगी कंपनियों में कार्य कर रहे साढ़े तीन लाख से अधिक कामगारों को गुरुवार को कोयला एवं खान मंत्री प्रहलाद जोशी ने बड़ी सौगात दी। कोयला खदानों में होने वाले जानलेवा हादसों के बाद कर्मी के परिवार को दी जाने वाली अनुग्रह राशि की मौजूदा 05 लाख रुपये की सीमा को 300 प्रतिशत बढ़ाकर 15 लाख रुपये किए जाने का ऐलान श्री जोशी ने किया।
गुरुवार को कोल इंडिया लिमिटेड की अनुषंगी कंपनी महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड (एमसीएल) की एक दिवसीय यात्रा के दौरान यह घोषणा करते हुए श्री जोशी ने कहा कि कोल इंडिया एवं उसकी समस्त अनुषंगी कंपनियों में कार्य करने वाले सभी कर्मियों (कोल इंडिया कर्मियों एवं संविदा कर्मियों) को इस घोषणा का लाभ मिलेगा।
साथ ही, उन्होंने कहा कि भारत सरकार देश के लोगों के जीवन स्तर को बेहतर से बेहतर बनाने की दिशा में लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने घोषणा की कि महानदी कोलफील्ड्स वित्त वर्ष 2024-25 तक 4000 से अधिक स्थानीय परियोजना प्रभावित लोगों को रोजगार मुहैया कराएगी। साथ ही, उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं को घर-घर तक सुलभ कराए जाने की क्रेंद सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि महानदी कोलफील्ड्स जल्द ही अपने कार्यक्षेत्र के आस-पास के गांवों में मोबाइल मेडिकल यूनिट का परिचालन करेगी, ताकि लोगों को उनके घरों तक नि:शुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकें। उन्होंने कहा कि आगामी वर्षों में महानदी कोलफील्ड्स अपने कोयला क्षेत्रों से रेल के जरिये कोयले के निर्बाध परिवहन के लिए 9000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश कर रेलवे लाइनों का निर्माण करेगी और रेलवे से जुड़ी अन्य आधारभूत संरचनाओं के विकास में मदद करेगी।