चिरमिरी । यूँ तो आज के आधुनिक युग में पानी की समस्या से हर क्षेत्र चाहे वह गॉंव हो या शहर सभी परेशान हैं। जल स्तर की हो रही कमी एक बड़ी समस्या है और इसे लेकर शासन प्रशासन कमर कसकर समस्या के निदान हेतु हर सम्भव प्रयास करते रहता है, जिससे कि अपने नागरिकों के लिए मूलभूत सुविधा के दर्जे वाला जल वितरण व्यवस्थित रूप से उपलब्ध कराया जाता रह सके। यही शासन की जिम्मेवारी भी है। इसी भावना को दृष्टिगत रखते हुए चिरमिरी नगर निगम ने लोगों की वर्षों पुरानी मॉंग को पूरा कर दिखाया है। लम्बे जतनों एवं कई प्रकार के छोटे-बड़े बदलाव के बाद अब अन्ततरू चिरमिरी के बड़ा बाजार, छोटा बाजार, हल्दीबाड़ी, डोमनहिल, गोदरापारा, कोरिया आदि क्षेत्रों में अब प्रतिदिन पानी वितरण होने से लोगों में खुशी व्याप्त है। इससे पहले सप्ताह में दो या तीन दिन अन्तराल में पानी के सप्लाई होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। ऊपर से सिस्टम के ब्रेकडाऊन होने की स्थिति में लोगों की परेशानी और भी बढ़ जाती थी। लेकिन अब प्रतिदिन पानी के सप्लाई होने से लोगों में प्रसन्नता है।
दरअसल महापौर चुनाव के समय अपने किये वायदे के अनुरूप महापौर बनने के बाद से ही के डोमरू रेड्डी ने इस सम्बंध में अपने प्रयास तेज कर अपना रूख स्पष्ट कर दिया था कि क्षेत्र में पानी की समस्या के निदान के लिए हर सम्भव प्रयास किये जा रहे हैं। जिन क्षेत्रों में सप्ताह में एक या दो दिन पानी सप्लाई हो पाता था। पहले वहॉं कम से कम तीन दिन सप्लाई की योजना पर काम किया और किसी प्रकार के तकनीकि दिक्कत के कारण सप्लाई बाधित होने पर टैंकरों से इसकी कमी दूर करने के प्रयास पर काम करते करते अब प्रतिदिन जल आपूर्ति को अमलीजामा पहना कर अपना वायदा पूरा कर दिखाया है। इसके लिए बड़ा बाजार, छोटाबाजार एवं हल्दीबाड़ी सहित गोदरीपारा, डोमनहिल, कोरिया के निवासियों विशेषकर गृहिणियों ने चिरमिरी महापौर के डोमरु रेड्डी के प्रति हर्ष व्याप्त है।
महापौर ने इस सम्बंध में चर्चा करते हुए बताया कि चिरमिरी शहर में विगत कई वर्षों से पेयजल को लेकर समस्या व्याप्त रहती थी, जिसे लेकर पीएचई के साथ मिलकर विगत कई महीनों के परिश्रम के परिणाम स्वरूप सिस्टम में किये गये आवश्यक सुधार तथा अपनाये गए उपायों से चिरमिरी में पेयजल वितरण प्रणाली में सुधार होने से आम जनता में हर्ष व्याप्त है। पिछले 30 वर्षों से पेयजल संकट को झेलता चिरमिरी शहर ऊंची.नीची पहाडिय़ों के रूप में बसा हुआ है जिससे आरुणी डैम से जलप्रदाय करने में काफी दिक्कतें आने से सदैव नागरिकों में असंतोष पाया जाता था । जिसे दूर करने के लिए हमारे व्यक्तिगत रुचि से नगर निगम एवं पीएचई की टीम की कर्मठता से इस समस्या के निराकरण के लिए किए गये सतत् प्रयास से वर्तमान में पेयजल की सुचारू रूप से वितरण प्रणाली की गुणवत्ता में सुधार कर प्रतिदिन पेयजल वितरण का कार्य संभव हो पाया है।
गौरतलब है कि हल्दीबाड़ी पुराना रेस्ट हाऊस पहाड़ में भी पिछले लगभग 25 से 30 वर्षों से पानी टंकी का निर्माण हुआ था परंतु उस टंकी से पेयजल वितरण नही हो सका था। इसी प्रकार गोदरीपारा के स्कूल के अंदर बने पड़े टंकी को भी दुरूस्त कराकर महापौर की सख्ती एवं दृढ़ इच्छाशक्ति से जल विभाग के एमआईसी सदस्य विजय चक्रवर्ती और जल प्रभारी अधिकारी विजय वधावन के द्वारा किए गए प्रयास के कारण अब हल्दीबाड़ी एवं गोदरीपारा के वंचित वार्डों तक पेयजल पहुंचना संभव हो पाया है। इसके अलावा बी.टाईप गोदरीपारा एवं छोटाबाजार कपूर सिंह दफाई में बुस्टर पम्प लगाकर भी पानी की कमी को दूर किया जा रहा है तथा छोटा बाजार में आनंद प्रिंटिंग प्रेस के पास एक अन्य बुस्टर पम्प का कार्य प्रगतिरत् है। साथ ही जिन क्षेत्रों में वितरण व्यवस्था का इंतज़ाम नहीं है, उन वार्डों को चिन्हांकित कर डिस्ट्रीब्यूशन लाईन बिछाने की कार्ययोजना पर भी काम हो रहा हैए जिससे आज के व्यवस्था में वंचित रह जाने वाले क्षेत्रों में भी पानी सप्लाई कर समस्या का समाधान किया जा सकेगा।