जांजगीर-चांपा। यूट्यूब में नकली नोट बनाने का हुनर सीखकर दो दोस्तों ने नकली नोट छापना ही शुरू कर दिया। एक युवक आज एक दुकान में नकली नोट से सामान खरीद रहा था। तभी दुकानदार को नोट के नकली होने की भनक लग गई और उसने मामले की सूचना पुलिस को दे दी। पुलिस ने युवक को धरदबोचा। उसके कब्जे से 50 के 63 और 500 के चार नकली नोट बरामद कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से एक बाइक के अलावा चार सीपीयूए प्रिंटर्स आदि जब्त किया है।
पुलिस के अनुसार नैला फाटक के पास अन्नपूर्णा किराना दुकान संचालित है। जहां दो युवक 50 रुपये के नकली नोट से राजश्री खरीद रहे थे। दुकान संचालक को संदेह होने पर फाटक के पास ड्यूटी कर रहे यातायात आरक्षक को मामले की जानकारी दी गईए तब वह युवक पकड़ा गया। जबकि उसका एक साथी मौका पाकर फरार हो गया। सूचना मिलने पर नैला चौकी की टीम मौके पर पहुची और युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। पकड़े गए युवक ने अपना नाम विष्णु दास पिता तुलसीदास वैष्णव उम्र 25 वर्ष निवासी कर बलौदा थाना बलौदा बताया। वहीं फरार साथी का नाम विमल वैष्णव पिता श्याम दास साकिन करमन्दा बताया गया। पकड़े गए युवक की तलाशी लेने पर उसके पास 50.50 रुपये के कुल 13 नोट मिले। युवक से और नोट के बारे में पूछताछ करने पर युवक ने स्वंय घर में छपाई करना बताया। आरोपी के बताए अनुसार उसके घर से नकली नोट 50 रुपये के 50 नग व 500 रुपये के 4 नग व छपाई करने के लिए रखे कलर स्कैनर प्रिंटर, मॉनिटर, सीपीयू, डाटा केबल, पेपर, स्केल, कटर, सैमसंग मोबाइल व पल्सर मोटर साइिकल जब्त किया गया। आरोपी ने बताया कि वह लिंक रोड जांजगीर स्थित नेक मीट कंप्यूटर सेंटर में पिछले साल पीजीडीसीए की पढ़ाई कर रहा था। इसी दौरान उसने मोबाइल से यूट्यूब से नकली नोट बनाने का वीडियो देखा था। उसी से इसने नकली नोट बनाना सीखा। कुछ महीना पहले ही इसके द्वारा उक्त सामग्री को खरीदी किया गया था। आरोपी ने बताया की वह पकड़ा न जाये इसलिए शुरुआती दौर में छोटे नोट 50 रुपये की छपाई किया। उसके बाद उसको शिवरीनारायण, तुर्री धाम तरफ उपयोग किया। आरोपी ने बताया कि वह दुकान में 50 रुपये का नकली नोट देकर 10 रुपये का राजश्री खरीदता था। आरोपी ने बताया कि फरार साथी विमल वैष्णव उसके मामा का लड़का है। उसके साथ मिलकर छपाई करता था। फिर नकली नोट को खपाने भी दोनों जाते थे।