जनकपुर। ग्राम पंचायत चुनाव हेतु त्रुटिपूर्ण मतदाता सूची के सुधार के लिए अंतिम दिन समूचे क्षेत्र के मतदाता पूरे समय मतदाता सूची में नाम उचित वार्ड में सुधार करने आवेदन लिए भटकते रहे, क्षेत्र के ग्राम पंचायतों से पहुचे मतदाताओं को इस सम्बंध में पुख्ता जानकारी उपलब्ध नहीं था कि मतदाता सूची में सुधार हेतु आवेदन किस कार्यालय में जमा करना है कोई तहसील कार्यालय का चक्कर लगाते रहे तो कोई तहसील कार्यालय का, कुछ लोगो ने जनपद कार्यालय में सुधार होने की जानकारी दिया, जनकपुर निवासी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि जनपद कार्यालय में मतदाता सूची में सुधार हेतु आवेदन लेकर गया तो अधिकारी के द्वारा कहा गया कि ग्राम पंचायत के सचिव से आवेदन को मार्क कराना पड़ेगा प्रवीण सहित अन्य मतदाता आवेदन लेकर ग्राम पंचायत कार्यालय पहुंचे तो पाया कि कार्यालयीन समय मे ताला लटक रहा था यही हाल क्षेत्र के अन्य ग्राम पंचायत कार्यालयों भी रहा, इस तरह देखा जाय तो एक तरफ निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाताओं को वोट डालने की अपील दीवारों में नारे लिखकर किया जाता है लेकिन मतदाताओं की सूची में नाम जोडऩे काटने में किस कदर लापरवाही व भर्राशाही समूचे भरतपुर क्षेत्र में किया जा रहा है यह मतदाताओं के आक्रोश से स्पष्ट हो रहा है ।
उक्त सम्बन्ध में पूरे क्षेत्र के जनप्रतिनिधियो व मतदाताओं ने आरोप लगाते हुए बताया है कि ग्राम पंचायत के पदाधिकारियों और जनपद पंचायत के जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत से प्रभावशाली व्यक्तियों को फायदा पहुंचाने मतदाता सूची में भारी गड़बड़ी किया गया है ।
जनकपुर के जनप्रतिनिधि व वार्ड पंच रामसुमन यादव ने जिम्मेदार अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि मतदाता सूची बनाने में बेहद अनियमितता बरती गयी है किसी वार्ड में 100 मतदाता है किसी मे 220 से ज्यादा मतदाता है तो किसी मे 150 जबकि सभी वार्ड में मतदाताओं की संख्या में इतनी असमानता बेहद गम्भीर मामला है इसकी जांच होना चाहिए ऐसा प्रतीत होता है की मतदाता सूची या कहे पांडुलिपि जानबूझकर त्रुटिपूर्ण बनाया गया है जिससे आरक्षण प्रक्रिया को प्रभावित करते हुए अपने चहेतों को फायदा पहुंचाया जा सके, ग्राम पंचायत खाडाखोह के मतदाता मुकेश यादव सहित काफी संख्या में लोगों ने लिखित शिकायत में कहा कि मतदाता सूची को जानबूझकर त्रुटिपूर्ण बनाया गया है उक्त शिकायत अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के समक्ष करते हुए दोषी अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ जांच व कार्रवाई की मांग किया है ।