जांजगीर-चांपा। स्वच्छ भारत मिशन के तहत नगरीय निकायों सहित ग्रामीणों क्षेत्रों को स्वच्छ बनाने केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा करोड़ो रूपए खर्च किए जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर नगरीय निकायों द्वारा भी साफ.सफ ाई के लिए लाखों रूपए खर्च कर कंटेनर सहित कई वाहनों की खरीदी की गई है। करीब 12 वर्ष पहले नगर पालिका जांजगीर-नैला में 50 लाख की स्वीपिंग मशीन खरीदी गई थी, लेकिन उसे आज तक उपयोग में नहीं लाया गया है। पालिका के स्टोर रूम में खड़े-.खड़ेे स्वीपिंग मशीन सहित अन्य कीमती वाहन अनुपयोगी व कबाड़ हो रहे हैं। कबाड़ हो रहे वाहनों को न नीलाम किया जा रहा है और न ही मरम्मत करा कर उसका उपयोग किया जा रहा है।
स्वच्छ भारत मिशन क्लीन सिटी योजनांर्तगत जिला मुख्यालय को कचरा मुक्त बनाने के लिए पालिका प्रशासन द्वारा लाखों रूपए की लागत से लंबी चौड़ी कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जबकि शासन द्वारा योजना के तहत रिक्शा ट्रीपर, कंटेनर सहित विभिन्ना संसाधनों की आपूर्ति पहले ही की जा चुकी है। नगर पालिका द्वारा सफ ाई, प्रकाशए पानी की व्यवस्था के लिए महंगी मशीनरी तो खरीदी जाती हैए लेकिन उचित रख-रखाव और मरम्मत पर ध्यान नहीं दिया जाता है। मशीनों को खुले आसमान के नीचे छोड़ दिया जाता है। करीब 12 वर्ष पहले नगर पालिका जांजगीर-नैला में 50 लाख की स्वीपिंग मशीन खरीदी गई थी, लेकिन उसे आज तक उपयोग में नहीं लाया गया है। पालिका के स्टोर रूम में खड़े-खड़े स्वीपिंग मशीन कबाड़ हो गई है। इसके अलावा पालिका के स्टोर रूम मेंरखे माजदाए वेक्यूम मशीनए जेसीबी, आटो सहित लगभग दर्जन भर कन्टेनर व रिक्शा कबाड़ हो गए है।
वहीं नगर पालिका द्वारा एक बार फिर से नए सामानों की खरीदी करने की प्लानिंग है। पालिका द्वारा 50 लाख की स्वीपिंग मशीन और डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए बैटरी चलित रिक्शा खरीदने की योजना है। जबकि कबाड़ हो रहे वाहनों को न नीलाम किया जा रहा है और न ही मरम्मत करा कर उसका उपयोग किया जा रहा है।
नगरपालिका जांजगीर-नैला में 2 फ ागिंग मशीन है। मशीन उपलब्ध होने के बावजूद पालिका द्वारा उसका उपयोग नहीं किया जा रहा है। नालियों की साफ.सफ ाई और दवाओं का छिड़काव नहीं होने के कारण इन दिनों मच्छरों का आतंक बड़ गया है। मच्छर से लोग परेशान है, लेकिन पालिका के द्वारा फ ागिंग मशीन का उपयोग नहीं किया जा रहा है।
नपा द्वारा पूर्व में खरीदे गए जो वाहन उपयोग के लायक नहीं है उसकी नीलामी कराई जाएगी। पालिका द्वारा 50 लाख की लागत से नई स्वीपिंग मशीन और डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए बैटरी चलित रिक्शा खरीदने की योजना है।
मनोज कुमार सिंह,
सीएमओ,जांजगीर-नैला