जांजगीर-चांपा। केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत अभियान के लागू होते ही पूरे देश में लोगो को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने तथा प्रत्येक घर में शौचालय निर्माण करने के लिए करोड़ों खर्च कर प्रत्येंक ग्रामवासियो को शौचालय का लाभ दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके बावजूद, इस योजना के क्रियान्वयन में भ्रष्टाचार थमने का नाम नहीं ले रहा है।
ताजा मामला जनपद पंचायत सक्ती अंतर्गत ग्राम पंचायत जुडग़ा से संबंधित है। इस पंचायत के अश्रित ग्राम पनारी एवं अंजोरीपाली में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय में सरपंच एवं सचिव द्वारा शासन को लाखों का चूना लगाया गया है, जिसकी लिखित शिकायत ग्रामवासियों द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सक्ती एवं जनपद पंचायत सक्ती के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से करते हुए कार्यवाही की मांग की गई है। गांव के जनकराम जायसवाल, रेवतीबाई, कुसीबाई, पंचकुवर, मंजूबाई, सविता, बिसाहीन, सोमेश्वर, अनिता बाई, शुक्रिता बाई, मानमति, भोजराम, तिलकुंवर, शिवन, तिजो, खिकबाई, तिजमति द्वारा शिकायत में कहा गया है कि उनके घर शौचालय बना ही नहीं है और सरपंच एवं सचिव द्वारा शौचालय की राशि आहरण कर ली गई है। ग्रामीणों का आरोप है कि सरपंच एवं सचिव द्वारा उनके नाम का हस्ताक्षर कर शौचालय निर्माण की राशि निकाली गई है। इस संबंध में जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल का कहना है कि शिकायत प्राप्त हुई है। जांच टीम गठित कर शिकायत के अनुसार जांच करवाई जाएगी। शिकायत सही पाए जाने पर सरपंच एवं सचिव के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी।