कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक में शनिवार को बड़ा फैसला लिया गया. यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया है. सूत्रों के मुताबिक, 5 जोन के आधार पर ली गई राय में सोनिया गांधी का नाम ही अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सामने आया. पहले तो उन्होंने मना किया. लेकिन नेताओं के बहुत कहने पर उन्होंने अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए हामी भर दी. हालांकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सोनिया गांधी कांग्रेस की नई अध्यक्ष हैं.

शनिवार को दूसरी बार रात 8 बजे कांग्रेस वर्किंग कमिटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हुई, जिसमें यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और एके एंटनी समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे. हालांकि सभी बैठक में राहुल गांधी का इंतजार करते रहे. काफी कहने के बाद राहुल गांधी बैठक में पहुंचे.

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि कश्मीर में हालात बहुत खराब हैं. कुछ रिपोर्ट्स में जम्मू-कश्मीर में हिंसा की बात कई गई है. यह बेहद चिंताजनक है. सरकार को यह बताना चाहिए कि क्या गलत हो रह है. सीडब्ल्यूसी की बैठक रोक दी गई और यह रिपोर्ट आई कि जम्मू-कश्मीर में हालत बदतर हैं. प्रधानमंत्री मोदी और सरकार को पारदर्शिता के साथ देश को यह बताना चाहिए कि क्या हो रहा है.

इससे पहले सुबह हुई CWC की बैठक में नेताओं के पांच समूह बनाए गए थे, जिन्होंने देश भर के नेताओं की राय जानी. इन पांच समूहों की रिपोर्ट CWC में रखी गई. सूत्रों के मुताबिक लगभग सभी नेताओं ने राहुल गांधी से अध्यक्ष बने रहने की मांग की थी. राहुल के विकल्प पर नेताओं ने ये भी कहा कि नया अध्यक्ष राहुल गांधी या फिर सीडब्ल्यूसी तय करे.