आर्टिकल 370 बेअसर होने के बाद भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच पाकिस्तान ने लद्दाख सीमा के पास साजो-सामान जुटाने शुरू कर दिए हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ये साजो-सामान लड़ाकू विमानों के ऑपरेशन में काम आने वाले हो सकते हैं.

इन सूत्रों ने बताया, ”शनिवार को पाकिस्तानी वायुसेना के 3 C-130 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल कर स्कार्दू एयरबेस पर साजो-सामान लाया गया.”

माना जा रहा है कि पाकिस्तान स्कार्दू एयरफील्ड पर अपने JF-17 फाइटर जेट तैनात कर रहा है. ऐसे में भारत की खुफिया एजेंसियों के साथ-साथ एयरफोर्स और सेना भी पाकिस्तानी एयरफोर्स की हलचल पर करीब से नजर बनाए हुए हैं.
fbtw
पाकिस्तान ने अमेरिका द्वारा सप्लाई किए गए C-130 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के पुराने वर्जन का इस्तेमाल का काफी समय बाद किया है.

हालांकि इस मामले पर एएनआई ने ही सूत्रों के हवाले से बताया है कि पाकिस्तानी वायुसेना एक अभ्यास की योजना बना रही है और विमानों को अग्रिम बेस पर ले जाने का कदम इसी योजना का हिस्सा हो सकता है. बता दें कि पाकिस्तानी वायुसेना भारतीय सीमा के पास स्कार्दू एयरबेस का इस्तेमाल अपनी सेना के ऑपरेशन्स में मदद के लिए करती है.

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के बेअसर होने के मामले को पाकिस्तान बड़ा मुद्दा बनाना चाह रहा है. इसी क्रम में उसने भारत के साथ राजयनिक संबंधों को सीमित करने और द्विपक्षीय व्यापार पर रोक लगाने जैसे कदम उठाए हैं. उसने पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया को भी निष्कासित कर दिया.

इसके बाद पाकिस्तान ने राजनयिक संबंधों को सीमित करने के फैसले पर फिर से विचार करने के भारत के आग्रह को भी अनसुना कर दिया. पाकिस्तान यह भी साफ कर चुका है कि वह अपने नवनियुक्त उच्चायुक्त मोइन उल हक को भी नई दिल्ली नहीं भेजेगा.