आईपीएल के 13वें सीजन का क्वालिफायर-2 मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने जीता. रविवार रात अबु धाबी में ‘करो या मरो’ के इस मैच में दिल्ली ने सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को 17 रनों से मात दी. 190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 172/8 रन ही बना पाई. दिल्ली मार्कस स्टोइनिस ने सनराइजर्स को तीन झटके दिए, जिसमें केन विलियमसन का अहम विकेट भी शामिल है. कैगिसो रबाडा ने चार विकेट लेकर दिल्ली की जीत सुनिश्चत की.

इस बेशकीमती जीत के साथ दिल्ली कैपिटल्स ने पहली बार आईपीएल के फाइनल में जगह बनाई. अब खिताबी मुकाबले में 10 नवंबर को दुबई में उसकी टक्कर चार बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस (MI) से होगी.

दूसरी तरफ इस हार के बाद मौजूदा आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद का सफर खत्म हो गया. लगातार चार जीत के बाद डेविड वॉर्नर की कप्तानी वाली सनराइजर्स टीम अपनी लय बरकरार रखने में नाकाम रही और उसे टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा.

190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स टीम को पहला झटका 12 के स्कोर पर लगा, जब कप्तान डेविड वॉर्नर (2) को कैगिसो रबाडा ने बोल्ड किया. पारी शुरू करने आए प्रियम गर्ग (17) को मार्कस स्टोइनिस ने बोल्ड किया. उसी ओवर में स्टोइनिस ने मनीष पांडे (21) को भी अपना शिकार बनाया.

43 के स्कोर पर दूसरा और 44 पर तीसरा विकेट गिरा. जेसन होल्डर (11) को अक्षर पटेल ने लौटाया. 90 के स्कोर पर हैदराबाद को चौथा झटका लगा. इसके बाद केन विलियमसन (67) ने अब्दुल समद के साथ 57 रनों की जोरदार साझेदारी की. विलियमसन को स्टोइनिस काै अहम विकेट लिया, रबाडा ने कैच लपका. 147 के स्कोर पर 5वां विकेट गिरा.

अब्दुल समद (33) को आउट कर रबाडा ने दिल्ली को छठा झटका दिया. अगली गेंद पर राशिद खान (11) को रबाडा ने चलता किया और इसके बाद उन्होंने उसी ओवर की पांचवीं गेद पर श्रीवत्स गोस्वामी (0) को लौटाया. यानी 167 रनों पर छठा और सातवां विकेट गिरने के बाद 168 रनों पर 8वें विकेट का पतन हुआ.